कोरोना वायरस के संकट में mask banane ka business करके हजारो / लांखो कमाए। आज कोरोना वायरस की वजह से पूरी दुनिया की रफ़्तार थम चुकी हैं। देखते देखते इस बीमारी ने महामारी का रूप धारण कर लिया हैं।

पूरी दुनिया में अब तक इस बीमारी से लाखों लोग प्रभावित हो चुके हैं। इसलियें इस बीमारी से बचने के लिए Physical distance या Social distance जैसी चीजें अब महत्वपूर्ण हो चुकी हैं।
अपना और अपने परिवार, समाज, देश – दुनिया का ख्याल रखने के लिए physical distance आज कोरोना के लड़ाई में बहुत ही लाभदायक चीज बन चुकी हैं।

क्योंकि अब तक इसका कोई ठोस इलाज नही हैं। संक्रमित लोगो से बचाव करने के लिए Physical distance अनिर्वाय हो गया हैं।

Physical distance का पालन करने के लिए हम पूरी जिंदगी घर पर तो नही रह सकते। हमे काम तो करना ही होगा। इसलिए हमें कुछ सावधानी रखनी होती हैं।
जैसे की कोरोना वायरस संक्रमण से बचने के लिए जितना हो सके खुद को ढक लेना।
घर से बाहर जाते समय आज लोग सर्जीकल मास्क अथवा मास्क का उपयोग करने लगे हैं।

भविष्य में इस कारण कोरोना रहे या ना रहे कोरोना का डर हमेशा रहेगा।
जिसके चलते mask banane ka business कोई करता हैं तो उसको अवश्य ही लाभ हैं। इसकी डिमांड बढ़ने वाली हैं। जितनी डिमांड बढ़ेगी उतना कारोबार अच्छा होगा।

World Health Organization के मुताबिक पूरी दुनिया में से यदि 80 प्रतिशत आबादी मास्क इस्तेमाल करती हैं तो कोरोना वायरस का खतरा कम होगा।
मास्क का इस्तेमाल जहाँ घनत्व ज्यादा हैं वहाँ बिल्कुल करना चाहिए। इस बात से आप समझ सकते हैं की मास्क पहनना या मास्क का महत्व कितना बढ़नेवाला हैं।

मध्यप्रदेश सरकार ने दिया महिलाओं को रोजगार

मध्यप्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन कटनी के माध्यम से 23 स्वसहायता समूहों से जुड़ी 157 महिलाओं को मास्क बनाने का व्यवसाय शुरू कर लांखो में कमाई करने का अवसर मिला। इन महिलाओं ने अब तक कुल एक लाख से ज्यादा मास्क का निर्माण किया ।
8 रूपये प्रति मास्क की दर पर बेचने से समूह को लांखो की आमदनी हुई। जिस कारण सबको आर्थिक लाभ हुआ।

मास्क बनाने के लिए कौनसे फैब्रिक का इस्तेमाल करे।

कोरोना वायरस संक्रमित व्यक्ति के खाँसने या छिंकने पर हवा में आई बूंदों से फैलता हैं। इसलिए मास्क बनाने के लिए कॉटन और सिल्क या शिफॉन और कॉटन को संयुक्त रूप से इस्तेमाल किया जा सकता हैं। जिससे पार्टिकल को बाहर रखने में मदद मिलती हैं।

रिपोर्ट के अनुसार जब मास्क को कॉटन जैसे फैब्रिक से मजबूती से बूना जाता हैं, तो यह ज्यादा असरदार पाया जाता हैं। शिफॉन और सिल्क का इस्तेमाल भी अच्छे मास्क बनाने के लिए ज्यादा फायदेमंद हैं।

जितना आप अच्छा मास्क बनाएंगे, उसमे जितना अच्छा फैब्रिक इस्तेमाल होगा और वह मास्क जितना पहनने के लिए आरामदायक – लाभदायक होगा, उतना ही आप इस मास्क बनाने का व्यवसाय में ढ़ेर सारे पैसे कमा सकते हैं।
इसलिए mask banane ka business करने के लिए मिश्रित फैब्रिक की मदद ज्यादा फायदेमंद हैं।

मास्क बनाने के क्षेत्र में नए फैशन ट्रेंड

कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए पूरी दुनिया मास्क पहनती हैं। लेकीन इसमे कोई ऐसे भी लोग हैं जो नयापन ला रहे हैं। इसकी बढ़ती खपत और अपने जीवन से जुड़ी महत्वपूर्ण बात होने के कारण मास्क में कुछ बदलाव करके आज कई लोग अपना कौशल्य दिखा रहे हैं।

कर्नाटक के बेलगाम में एक सुनार ने चांदी का मास्क बनाया और वो मास्क इतना लोकप्रिय हुआ की कुछ ही दिनो में 200 से अधिक चांदी के मास्क की बिक्री भी हुई। उस एक चांदी के मास्क की कीमत 3500 हैं। इसके बावजूद लोग इस मास्क को खरीद रहे हैं।

Lockdown में उनका सोना चांदी का व्यापार ठप था। लेकीन उनकी इस नई कुशलतापूर्ण सोच से उनका व्यापार अचानक बढ़ने लगा।
लोग शादी में तोहफा देने के लिए भी चांदी का मास्क खरीद रहे हैं।

मुंबई में एक दुकानदार ने पैठनी (महाराष्ट्रीयन साड़ी का प्रकार) से मास्क बनाया जो लोगोको बहुत पसंद आ रहा है।
दुनियाभर में बड़े फ़ैशन डिज़ाइनर भी मास्क को जल्द ही फ़ैशन एक्सेसरी और सोशल स्टेटस का दर्जा देने की सोच रहे हैं।

आनेवाले समय में बड़े त्योहारो में या जश्न में सब लोग डिज़ाइनर मास्क इस्तेमाल करेंगे।
इससे यह पता चलता हैं की आनेवाले समय मे मास्क बनाने का व्यवसाय में फ़ैशन इंडस्ट्री भी अपना योगदान देनेवाली हैं।

सर्जिकल मास्क अथवा mask banane ka business की तैयारी कैसे करे और इसके फायदे।

इस व्यवसाय को करने के लिए ज्यादा लागत की जरूरत नही होती। आप कम से कम लागत या पूंजी से यह व्यवसाय शुरू कर सकते हैं।

आपको सबसे पहले इस मास्क को बनाने के लिए प्रशिक्षित होना होगा या किसी कुशल कारीगर को आप अपने साथ रखकर मास्क बनवा सकते हैं। यदी आप शिलाई बुनाई का काम जानते हैं तो आपके लिए ये काम ज्यादा आसान हो ज्याता हैं।

mask banane ka business शुरू करने के लिए किसी पंजीकरण और लाईसेंस की आपको आवश्यकता नही होती हैं। अगर यह काम आप बड़े पैमानें में मशीन लगाकर करना चाहते हैं, तो आपको इसके लिए लाइसेंस लेना अनिर्वाय होता हैं। इसके साथ ही आपको GST पंजीकरण करना होगा।

यह काम आप अपने घर से शुरू कर सकते हैं।

काम शुरू करने से पहले आपको मास्क बनाने के लिए जो कच्चा माल लगने वाला हैं, वो आप कहा से लेनेवाले हो ये पहले तय करे।

आपको यह ध्यान में रखना हैं की मास्क ज्यादा आरामदायक, लाभदायक, दिखने में अच्छा हो और उसकी कीमत किसी बड़े ब्रांड के तुलना में सस्ती हो।

तैयार माल को बेचने का प्लान रेडी रखे। अपने आस पास या बड़े बाजार में तैयार माल कहा बेचना है इसका अभ्यास करें। मेडिकल स्टोर, जनरल स्टोर, कॉस्मेटिक की दुकान, मॉल, हॉस्पिटल, क्लिनिक, सामाजिक संस्थायें यहाँ आप अपना माल बेच सकते हैं।

आप अपने यहाँ काम करनेवाले लोगोंको उनके कौशल्य के अनुसार उनको काम सिखाये या उनको प्रशिक्षित कीजिये

कोरोना जैसी महामारी के चलते तथा प्रदूषण का खतरा देखते हुए आज से ही सारी दुनिया मास्क पहनने लगी हैं। मास्क का महत्व बढ़ चुका हैं। ऐसे में मास्क बनाने का व्यवसाय आनेवाले समय में बढ़नेवाला हैं। जिसमे बहुत सारे लोगोको कम लागत से एक अच्छा उद्योग करने का अवसर प्राप्त हो चुका हैं।

युवा, बेरोजगार, महिलाओं के लिए ये अच्छा अवसर हैं। mask banane ka business में कम लागत होती हैं, इस कारण इस वर्ग को यह मास्क बनाने का व्यवसाय ज्यादा फायदेमंद हैं।
दुनिया की जरूरत को समझते हुए आज से ही ये काम जल्द से जल्द स्टार्ट कीजिये।

ये भी पढिये ?

General Insurance Agent kaise Bane?

BEST ONLINE JOBS IN INDIA के बेहतरीन online jobs website

म्यूच्यूअल फण्ड क्या है?

Ghar baithe kaam करने के कई ideas

लॉन्ग टर्म निवेश के लिए 10 शानदार शेयर्स

Health insurance agent kaise bane

आपको ये मास्क बनाने का व्यवसाय के बारे में हमने जितनी जानकारी दी, हमे आशा हैं की आपको ये पसंद आई होगी। ये लेख आपके दोस्त, परीवार या अन्य किसीको सोशल मीडिया द्वारा आप भेज सकते है। जिससे किसीको फायदा हो सके। इससे जुड़े कोई प्रश्न या हमारे लिए कोई सुझाव रहेंगे तो हमे comment कीजिये या ईमेल कीजिये।

धन्यवाद।

लेखन – नयन चव्हाण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *